Anmol Waqt shayari | अनमोल वक्त शायरी 2023 | Waqt Suvichar Shayari


Anmol Waqt shayari | अनमोल वक्त शायरी 2023 | Waqt Suvichar Shayari


वक्त पर शायरी

वक्त है! क्या पता

वक्त पर हिंदी शायरी
न जाने कौन-कौन से जख्मों को
हरा करेगा।
वक्त है क्या पता,
किस चिंगारी को
हवा करेगा।।

Waqt Per Shayari


Na jaane kaun kaun se jakhmon ko
Hara Karega
Waqt hai kya pata
Kis chingari ko
Hawa Karega

***


Best Waqt shayari in Hindi

शातिर है वक्त



Best Shayari on Time

 

उस्ताद यह कम नहीं 
कला सुर से सुर मिलाने की जानता है।
बड़ा शातिर है यह वक्त भी
हुनर बदल जाने की जानता है।।



Ustad yah Kam nahin
Kala Sur se Sur Milane ki jaanta hai
 bada shatir hai ye waqt bhi
 hunar Badal jaane ki jaanta hai

***

वक्त पर बेहतरीन हिंदी शायरी-मशहूर बना देता है 



Waqt shayari


वक्त 
कभी मजबूर 
कभी मगरूर 
बना देता है 
मालदार को फकीर
 गुमशुदा को मशहूर
 बना देता है।
Anmol Waqt Shayari 

Waqt 
kabhi majbur 
kabhi magrur
 Bana deta hai 
maldar ko fakir 
gumshuda ko mashhur 
bana deta hai

***

वक्त पर सुविचार-
वक्त है साहिब



वक्त है साहिब
सबको नचाता जरूर है
इसे बेरंग ना समझ
अपना रंग दिखाता जरूर है
बहाने करता रहता है अक्सर
चुपचाप चलने का मगर
यह जालिम है सब पर अपना हाथ
आजमाता जरूर है


Waqt suvichar in Hindi

Waqt hai saahib
sabko nachata jarur hai
ise berang na samajh
apna rang dikhata jarur hai
bahaane karta rahata hai aksar
chupchaap chalane ka magar
yah jaalim hai sab par apna haath
aajmata jarur hai

***



वक्त के थपेड़े




वक्त के थपेड़े से बचकर निकल ए राही
इसकी तो आदत सी है सबका वक्त बदल देने की
हौसलों की उड़ान भरने वालों को कर लेता है
मुट्ठी में कैद अपनी
और कर देता है रिहा जिंदगी
बंदिश में रहने वालों की

अनमोल वक्त शायरी


Waqt ke thapede Se bachkar nikal Rahi
Iski to aadat Si Hai sabka waqt Badal Dene Ki
Hoslon ki udan bharane walon Ko kar leta hai
Mutthi mein kaid apni
Aur kar deta Hai riha zindagi
Bandish mein Rahane walon Ki

***
                                       ......'अनु-प्रिया'

1 टिप्पणी:

Blogger द्वारा संचालित.