Latest Ganesh Chaturthi Shayari in Hindi | गणेश चतुर्थी शायरी 2024




गणेश जी हिंदू हिंदुओं के प्रथम देवता कहे जाते हैं । उनकी पूजा हिंदू धर्म में सर्वप्रथम जरूरी माना जाता है । उनके वाहन श्रीमती मूषक भी हैं। गणेश भगवान को सभी के द्वारा आदर्श देवता माना जाता है और उनकी कथाएं और लीलाएं हिंदू धर्म के प्रमुख ग्रंथों में विस्तारपूर्वक उल्लेखित हैं। इसीलिए हम लेकर आए हैं- Ganesh Chaturthi Shayari in Hindi | गणेश चतुर्थी शायरी 2024 जिन्हें पढ़कर आपको भी धर्म से जुड़ाव महसूस हो सके।गणेश चतुर्थी पर शेयर करें ये shayari, images, quotes, wishes. और कहें -Happy Ganesh Chaturthi 


Content:-

  • ganesh ji ki shayari 
  • Ganesh Chaturthi Shayari
  • Ganesh Chaturthi Shayari in Hindi
  • Best Ganpati Shayari
  • Ganesh Chaturthi Wishes in Hindi 
  • Ganesh Vandana in Hindi 
  • श्री गणेश जी की आरती
  • श्री गणेश जी की चालीसा
  • ganesh shayari 
  • ganesh puja shayari
  • गणेश जी के प्रभावशाली मंत्र

 

Latest Ganesh Chaturthi Shayari in Hindi 


गणेश चतुर्थी शायरी 2024

 


 ऊं श्री गणेशाय नमः


वक्रतुण्ड महाकाय, सूर्यकोटि समप्रभ:। 

निर्विघ्नं कुरु मे देव, सर्वकार्येषु सर्वदा॥


गणेश भगवान शायरी | Best Ganapati Shayari 2024





Ganesh Chaturthi Shayari


 
प्रथम देवता गणपति मेरे
बप्पा अष्टविनायक हैं
  अरज लगा लो इनके सम्मुख
         ये ही विघ्नविनाशक हैं।।   

Pratham Devta Ganpati mere
Bappa ashtvinayak hain
Arz Laga Lo inke sammukh 
Ye hi Vighnavinashak hain


***


Ganesh Chaturthi Wishes in Hindi 


गणेश भगवान भारतीय हिंदू धर्म के प्रमुख देवताओं में से एक हैं। वे विद्या, बुद्धि, बल और समृद्धि के प्रतीक माने जाते हैं।


 

ganesh ji ki shayari 


Ganesh Chaturthi Shayari Ganesh Chaturthi Best Wishes in Hindi Ganpati Shayari गणेश चतुर्थी शायरी गणपति बप्पा पर शायरी गणेश भगवान की शायरी गणेश शायरी



मन कोई भाव बुरा न आए
सुनना आज हमारी बप्पा
रहम तुम्हारी नजर तुम्हारी
बाकी फर्ज हमारा बप्पा

Man koi bhaav Bura Na Aaye
Sunna arz hamari Bappa
Raham tumhari Najar tumhari
Baki farj hamara Bappa




Ganesh chaturthi shayari in Hindi


Ganesh Chaturthi Shayari Ganesh Chaturthi Best Wishes in Hindi Ganpati Shayari गणेश चतुर्थी शायरी गणपति बप्पा पर शायरी गणेश भगवान की शायरी गणेश शायरी



आपका ज्ञान सागर अपार है प्रभु
 गणेश चतुर्थी आपका त्यौहार है प्रभु
 बहुत खास है भक्तों के लिए यह पर्व बप्पा 
क्योंकि इसमें समाया आपका आशीर्वाद, प्यार है प्रभु

Aapka Gyan Sagar apaar Hai Prabhu
Ganesh chaturthi aapka tyohar Hai Prabhu
Bahut khaas hai bhakton ke liye yah parv Bappa
Kyunki ismein samaya aapka Aashirwad, Pyar Hai Prabhu


***




 देवों के देव वक्रतुंड महाकाय को 
मेरा कोटि-कोटि प्रणाम है
हे चिंतामणि !गणपति बप्पा ,
आप से ही जग में मेरा नाम है

Devon Ke Dev vakratunda mahakay ko Mera koti-koti pranam Hai
 Hay Chintamani ! Ganpati Bappa,
Aapse Hi Jag mein Mera Naam Hai


***


गणेश भगवान की शायरी


Ganesh Chaturthi Shayari Ganesh Chaturthi Best Wishes in Hindi Ganpati Shayari गणेश चतुर्थी शायरी गणपति बप्पा पर शायरी गणेश भगवान की शायरी गणेश शायरी




My friend Ganesha जब मेरे साथ होते हैं कोई और नहीं होता सिर्फ वही पास होते हैं खुशियों की बहार से महक जाता है घर आंगन सारा 
इस घड़ी में भी सब आसपास मगर वही खास होते हैं

My friend Ganesha jab mere sath hote Hain 
Koi aur Nahin Hota sirf vahi paas hote hain 
khushiyon Ki bahar se mahak jata hai ghar angan Sara 
Is ghadi mein bhi sab aaspaas Magar vahi khaas Hote Hain


***



भक्ति विभोर हो, भजन में डूब कर
गणपति दर तेरे आया होठों से चूमकर
आशीषों की झड़ी लगा दीजिए उन पर
जो आए भक्त तेरे पास मस्ती में झूम कर

Bhakti-vibhor Ho, bhajan mein doobkar Ganpati dar Tere Aaya hothon Se chum kar
 Ashishon ki jhhadi Laga dijiye un per 
Jo Aaye bhakt Tere pass Masti mein jhumkar



***



हर किसी की जुबां पर गणपति नाम तिहारा हो
सब पर आपकी कृपा बरसे ऐसी
कि कोई भी भक्त कभी न बेसहारा हो

Har kisi Ki juban per Ganpati Naam tihara Ho
Sab per aapki kripa barse aisi
Ki koi bhi bhakt Kabhi Na besahara Ho


***



हर आंसू को मुस्कान में बदल देता है
 मेरे भोलेनाथ का लाल तो इतना भोला-भाला है
कि कांटों को भी गुलदान में बदल देता है

Har aansu ko muskan mein Badal deta hai
Mere Bholenath ka Laal to itna Bhola Bhala hai
Ki kanton ko bhi guldaan me Badal deta hai


***


Ganesh chaturthi Best wishes in Hindi




Ganesh Chaturthi Shayari Ganesh Chaturthi Best Wishes in Hindi Ganpati Shayari गणेश चतुर्थी शायरी गणपति बप्पा पर शायरी गणेश भगवान की शायरी गणेश शायरी



हे लंबोदर,गजानन, मंगलकारी
मोदक प्रिय तुमको, मूषकराज सवारी
थाल सजाकर नित पूजते  जो भाव से नर-नारी
विघ्नहर्ता, कृपा करिए उन पर तुम हो संकट हारी

Hay lambodar ,Gajanan ,mangalkari Modak Priya tumko, MushakRaj sawari Thal sajakar nit pujate Jo bhav se nar-nari 
Vighnharta kripa kariye un per, tum ho Sankathaari



***


सोई हुई तकदीर पल भर में जगा देता है 
बिगड़ी हुई लकीर किस्मत ही बना देता है
कमाल तो देखो शंकर के लाल का
जो पल भर में ही
राजा को रंक, फकीर को भूपति बना देता है 

Soi Hui takdeer pal Bhar mein jaga deta Hai 
Bigadi Hui lakir kismat ki bana deta hai 
Kamaal to dekho uss Shankar Ke Laal ka
Jo pal bhar mein hi
 Raja Ko rank, fakir ko bhupati bana deta hai


***


गणपति नाम की ज्योति से नूर मिलेगा 
सबके दिलों को भक्ति का सुरूर मिलेगा 
जो भी जाएगा सच्चे हृदय से गणेश जी के द्वार
उसे कुछ न कुछ जरूर मिलेगा 

Ganpati Naam Ki Jyoti se Nur milega
Sabke dilon ko Bhakti ka surur milega
Jo bhi Jayega sacche hriday se Ganesh ji ke dwar
Use kuchh Na kuchh jarur milega


***


ganesh shayari 


गणेश जी को विघ्नहर्ता भी कहा जाता है, क्योंकि उन्हें शुभ कार्यों में आने वाली हर परेशानी और बाधा को हराने की क्षमता है। 



माता जिनकी पार्वती, पिता महादेव हैं 
रिद्धि-सिद्धि के स्वामी गणेश जी ही प्रथम देव हैं

Mata jinki Parvati, Pita Mahadev hain
Riddhi Siddhi ke Swami Ganesh ji hi Pratham Dev hain.

***


गणपति बप्पा पर शायरी


मेरे गणपति बप्पा का त्यौहार आया है 
बप्पा को अपने भक्तों पर प्यार आया है
 दूर्वा मोदक मेंवे सब कर दो अर्पण 
उनकी सेवा करने का मौका फिर से एक बार आया है

Mere Ganpati bappa ka tyohaar Aaya Hai
Bappa ko Apne bhakton per Pyar Aaya Hai
Doorva, modak, meve sab kar do Arpan
Unki seva karne ka mauka fir se ek baar Aaya Hai


***

ganesh ji shayari 



Ganesh Chaturthi Shayari Ganesh Chaturthi Best Wishes in Hindi Ganpati Shayari गणेश चतुर्थी शायरी गणपति बप्पा पर शायरी गणेश भगवान की शायरी गणेश शायरी




बोल मोदक से मीठे बोलने चाहिए
बप्पा से दिल के सारे भेद खोलने चाहिए
वह सरल हैं, सर्वज्ञ हैं,अंतर्यामी भी हैं 
उनकी भक्ति भरे रस में अपने कान घोलने चाहिए

Bol modak se mithe bolane chahiye 
 Bappa Se Dil Ke saare bhed kholne chahiye 
Vah Sarvagya Hain, Saral Hain,Antryami bhi hain 
Unki bhakti  bhare ras me apne Kaan gholne chahiye 


***

शुभ कामों में पूजे जाते
प्रथम हर कहीं देखे जाते
 अतुल बुद्धि भंडार के स्वामी
 भक्तों के दुख पीते जाते

Shubh kaamo mein puje jaate 
Pratham har kahin dekhe jaate
 Atul buddhi Bhandar ke Swami 
Bhakton ke dukh Peete jaate



***


कार्तिकेय के छोटे भैया 
बीच भंवर फंसी मेरी नैया 
आकर हमको पार लगा दो 
बेरंग जीवन पर रंग चढ़ा दो

Kartikey ke chhote Bhaiya 
beech bhanvar fasi meri Naiya
 Aakar humko paar Laga do 
Berang jivan per rang Chadha do



***


धूम मची चौराहों पर 
खुशियों का जाम छलका है 
आज का दिन उस बप्पा के नाम पर 
जिस पर दिल सुबह शाम धड़का है

Dhoom machi chaurahon per 
Khushiyon Ka jaam chalka hai 
Aaj ka din uss bappa ke naam per 
Jis Per Dil subah-Sham dhadka Hai



***


आशीर्वाद के तोहफों संग हर साल आते हैं 
सही गलत का भेद बताकर हौसला बढ़ाते हैं 
ऐसे मेरे श्री गणेश जी को शत-शत नमन है जो 
भक्तों के सारे गम मिटाकर खुशियां दे जाते है

Aashirwadon ke tohfon sang har saal aate Hain

Sahi galat Ka bhed Batakar hausla badhate Hain
Aise Mere Shri Ganesh Ji ko sat sat Naman hai jo
Bhakton ke sare gam mitakar khushiyan de jaate Hain


***



Best Lakshmi-Ganesh shayari in Hindi



Ganesh Chaturthi Shayari Ganesh Chaturthi Best Wishes in Hindi Ganpati Shayari गणेश चतुर्थी शायरी गणपति बप्पा पर शायरी गणेश भगवान की शायरी गणेश शायरी




लक्ष्मी संग गणेश जी
हम सबके जीवन में
पधारें
बिराजें
और 
संवारें

Lakshmi sang Ganesh ji
Ham sabke jivan mein jeevan me
Padharen
Viraje
Aur
Saware



***



खुशियों से भरा रहे घर आंगन आपका
 फले फूले संपत्ति सारा धन आपका
मन में वास करें लक्ष्मी संग गणेश जी
हो जाए सभी समस्याओं का समाधान आपका

Khushiyon se bhara rahe Ghar angan aapka
Fale Phule sampatti Sara dhan aapka
Man mein vaas kare Lakshmi sang Ganesh ji
Ho jaaye sabhi samasyaon ka Samadhan aapka



***


ganesh puja shayari



शुभ काज करो गणपति मेरे
लक्ष्मी जी धन बरसा जाओ
इस दीप श्रंखला उत्सव में
जीवन मेरे दीप जला जाओ




Ganesh Chaturthi Shayari Ganesh Chaturthi Best Wishes in Hindi Ganpati Shayari गणेश चतुर्थी शायरी गणपति बप्पा पर शायरी गणेश भगवान की शायरी गणेश शायरी



Shubh kaaz karo Ganpati Mere
Lakshmi Ji dhan barsa jao
Is dip shrankhala utsav mein
Jivan Mere deep jala jao


***



बलिहारी जाऊं बारी-बारी देख मूरत तेरी
 चरणों में आपकी जगह मिल जाए
 देखती रहूं बस सूरत तेरी

Balihari jaaun Bari Bari dekh Murat Teri
Charanon mein aapki jagah mil jaaye Dekhti rahun bas Surat Teri


***

Ganesh Vandana in Hindi 

श्री गणेश जी की आरती


जय गणेश, जय गणेश, जय गणेश देवा।
माता जाकी पार्वती, पिता महादेवा॥

एक दंत दयावंत, चार भुजा धारी।
माथे सिंदूर सोहे, मूस की सवारी॥

जय गणेश जय गणेश, जय गणेश देवा।
माता जाकी पार्वती, पिता महादेवा॥

पान चढ़े ,फल चढ़े, और चढ़े मेवा।
लड्डुअन का भोग लगे, संत करें सेवा॥

जय गणेश जय गणेश, जय गणेश देवा।
माता जाकी पार्वती, पिता महादेवा॥

अंधन को आंख देत, कोढ़िन को काया।
बांझन को पुत्र देत, निर्धन को माया॥

जय गणेश जय गणेश, जय गणेश देवा।
माता जाकी पार्वती, पिता महादेवा॥

‘सूर’ श्याम शरण आए, सुफल कीजे सेवा।
माता जाकी पार्वती, पिता महादेवा॥

जय गणेश जय गणेश, जय गणेश देवा।
माता जाकी पार्वती, पिता महादेवा॥

दीनन की लाज रखो, शंभु सुतकारी।
कामना को पूर्ण करो, जाऊं बलिहारी॥

जय गणेश जय गणेश, जय गणेश देवा।
माता जाकी पार्वती, पिता महादेवा॥

पार्वती के पुत्र कहावो, शंकर सुत स्वामी।
गजानन्द गणनायक, भक्तन के स्वामी॥

जय गणेश जय गणेश, जय गणेश देवा।
माता जाकी पार्वती, पिता महादेवा॥

 ऋद्धि सिद्धि के मालिक, मूषक असवारी।
कर जोड़ विनती करते, आनन्द उर भारी॥

जय गणेश जय गणेश, जय गणेश देवा।
माता जाकी पार्वती, पिता महादेवा॥

प्रथम आपको पूजत, शुभ मंगल दाता।
सिद्धि होय सब कारज, दारिद्र हट जाता॥

जय गणेश जय गणेश, जय गणेश देवा।
माता जाकी पार्वती, पिता महादेवा॥

 सूंड सुंडला इंद्र इन्द्राला, मस्तक पर चंदा।
कारज सिद्ध कराओ, काटो सब फंदा॥ 

जय गणेश जय गणेश, जय गणेश देवा।
माता जाकी पार्वती, पिता महादेवा॥

 गणपति जी की आरती, जो कोई नर गावै।
सब बैकुण्ठ परम पद, निश्चित ही पावै॥

जय गणेश जय गणेश, जय गणेश देवा।
माता जाकी पार्वती, पिता महादेवा॥


दोहा श्री गणेश पर

विध्न-हरण मंगल-करण, काटत सकल कलेस;
सबसे पहले सुमरिये गौरीपुत्र गणेश।


***


Shri Ganesh Chalisa 

श्री गणेश जी की चालीसा:


।। दोहा ।।


जय गणपति सदगुणसदन, कविवर बदन कृपाल।

विघ्न हरण मंगल करण, जय जय गिरिजालाल॥



।। चौपाई ।।



जय जय जय गणपति गणराजू ।
मंगल भरण करण शुभ काजू ।।
जय गजबदन सदन सुखदाता ।
विश्व विनायक बुद्घि विधाता ।।
वक्र तुण्ड शुचि शुण्ड सुहावन ।
तिलक त्रिपुण्ड भाल मन भावन ।।
राजत मणि मुक्तन उर माला ।
स्वर्ण मुकुट शिर नयन विशाला ।।
पुस्तक पाणि कुठार त्रिशूलं ।
मोदक भोग सुगन्धित फूलं ।।
सुन्दर पीताम्बर तन साजित ।
चरण पादुका मुनि मन राजित ।।
धनि शिवसुवन षडानन भ्राता ।
गौरी ललन विश्व-विख्याता ।।
ऋद्घि-सिद्घि तव चंवर सुधारे ।
मूषक वाहन सोहत द्घारे ।।
कहौ जन्म शुभ-कथा तुम्हारी ।
अति शुचि पावन मंगलकारी ।।
एक समय गिरिराज कुमारी ।
पुत्र हेतु तप कीन्हा भारी ।।
भयो यज्ञ जब पूर्ण अनूपा ।
तब पहुंच्यो तुम धरि द्घिज रुपा ।।
अतिथि जानि कै गौरि सुखारी ।
बहुविधि सेवा करी तुम्हारी ।।
अति प्रसन्न है तुम वर दीन्हा ।
मातु पुत्र हित जो तप कीन्हा ।।
मिलहि पुत्र तुहि, बुद्धि विशाला ।
बिना गर्भ धारण, यहि काला ।।
गणनायक, गुण ज्ञान निधाना ।
पूजित प्रथम, रुप भगवाना ।।
अस कहि अन्तर्धान रुप हवै।
पलना पर बालक स्वरुप हवै ।।
बनि शिशु, रुदन जबहिं तुम ठाना ।
लखि मुख सुख नहिं गौरि समाना ।।
सकल मगन, सुखमंगल गावहिं ।
नभ ते सुरन, सुमन वर्षावहिं ।।
शम्भु, उमा, बहु दान लुटावहिं ।
सुर मुनिजन, सुत देखन आवहिं ।।
लखि अति आनन्द मंगल साजा ।
देखन भी आये शनि राजा ।।
निज अवगुण गुनि शनि मन माहीं ।
बालक, देखन चाहत नाहीं ।।
गिरिजा कछु मन भेद बढ़ायो ।
उत्सव मोर, न शनि तुहि भायो ।।
कहन लगे शनि, मन सकुचाई ।
का करिहौ, शिशु मोहि दिखाई ।।
नहिं विश्वास, उमा उर भयऊ ।
शनि सों बालक देखन कहयऊ ।।
पडतहिं, शनि दृग कोण प्रकाशा ।
बोलक सिर उड़ि गयो अकाशा ।।
गिरिजा गिरीं विकल हुए धरणी ।
सो दुख दशा गयो नहीं वरणी ।।
हाहाकार मच्यो कैलाशा ।
शनि कीन्हो लखि सुत को नाशा ।।
तुरत गरुड़ चढ़ि विष्णु सिधायो ।
काटि चक्र सो गज शिर लाये ।।
बालक के धड़ ऊपर धारयो ।
प्राण, मंत्र पढ़ि शंकर डारयो ।।
नाम गणेश शम्भु तब कीन्हे ।
प्रथम पूज्य बुद्घि निधि, वर दीन्हे ।।
बुद्धि परीक्षा जब शिव कीन्हा ।
पृथ्वी कर प्रदक्षिणा लीन्हा ।।
चले षडानन, भरमि भुलाई ।
रचे बैठ तुम बुद्घि उपाई ।।
धनि गणेश कहि शिव हिय हरषे ।
नभ ते सुरन सुमन बहु बरसे ।।
चरण मातु-पितु के धर लीन्हें ।
तिनके सात प्रदक्षिण कीन्हें ।।
तुम्हरी महिमा बुद्ध‍ि बड़ाई ।
शेष सहसमुख सके न गाई ।।
मैं मतिहीन मलीन दुखारी ।
करहुं कौन विधि विनय तुम्हारी ।।
भजत रामसुन्दर प्रभुदासा ।
जग प्रयाग, ककरा, दुर्वासा ।।
अब प्रभु दया दीन पर कीजै ।
अपनी भक्ति शक्ति कछु दीजै ।।


।। दोहा।।


श्री गणेश यह चालीसा , पाठ करै कर ध्यान ।
नित नव मंगल गृह बसै , लहे जगत सन्मान ।।

सम्वत अपन सहस्त्र दश, ऋषि पंचमी दिनेश ।
पूरण चालीसा भयो, मंगल मूर्ति गणेश ॥



गणेश जी के प्रभावशाली मंत्र

यहां पर गणेश जी के कुछ प्रभावशाली मंत्र दिए गए हैं जिनका जाप करके आप अपने जीवन से जुडी समस्त परेशानियों से निजात पा सकते हैं ।


'ॐ गं गणपतये नम:।'

कैरियर में सफलता प्राप्त करने के लिए।



'ऊं ह्रीं ग्रीं '
सुख-संपत्ति और समृद्धि पाने के लिए।




 'ॐ मेघोत्काय स्वाहा।'
 यह मंत्र प्राकृतिक आपदाओं से बचाता है।



 
'ॐ गं हस्ति पिशाचि लिखे स्वाहा।'
  गणपतिजी का यह मंत्र तांत्रिक क्रियाओं से रक्षा करता है।  



'ॐ वक्रतुण्डाय हुं।'
यह मंत्र शत्रुओं से बचाता है।



'ॐ ग्लौम गौरी पुत्र,वक्रतुंड,गणपति गुरु गणेश 
ग्लौम गणपति,ऋदि्ध पति। मेरे दूर करो क्लेश।।'



घर की परेशानियों को दूर करने के लिए।
जीवनसाथी के साथ मनमुटाव को दूर करने के लिए
गृह क्लेश को समाप्त करने के लिए
घर में बरकत लाने के लिए



'ॐ श्रीं ह्रीं श्रीं क्लीं क्लीं गण‍पति वर वरद सर्व लोकं में वशमानय स्वाहा।'


यह मंत्र आकर्षण शक्ति में वृद्धि करता है।
साक्षात्कार में सफलता दिलाता है।
समाज में प्रतिष्ठा देता है।



'ॐ नमो हेरम्ब मद मोहित मम् संकटान निवारय-निवारय स्वाहा।'


अपने ऊपर आए संकट के निवारण के लिए


 

'ॐ गं गणपतये सर्व कार्य सिद्धि कुरु कुरु स्वाहा'


सच्चे मन और श्रद्धा से इस मंत्र का जाप करने से कार्य में आने वाली बाधाएं दूर होती है।



'ॐ ऐं ह्वीं क्लीं चामुण्डायै विच्चे'


कुंडली में बुध ग्रह दोष को दूर करने करे लिए इस मंत्र का जाप बुधवार के दिन करने से ग्रह दोष का निवारण होता है।



'ॐ श्रीं गं सौम्याय गणपतये वर वरद सर्वजनं में वशमानय स्वाहा'


यह मंत्र समाज में लोक प्रिय बनाता है।
जीवन में आनंद केअवसर पैदा करता है।
तनाव से दूर रखता है। 



'इदं दुर्वादलं ऊं गं गणपतये नमः'


दुर्वा चढ़ाते समय इस मंत्र के जाप से बप्पा प्रसन्न होते हैं।
इस मंत्र  का जाप तब करें जब आप पूजा में भगवान गणेश
को दुर्वादल चढ़ा रहे हों । भगवान गणेश को दुर्वा अतिप्रिय है।




***

दोस्तों! अगर आपको हमारी Ganesh Chaturthi Shayari in Hindi | गणेश चतुर्थी शायरी 2024 पसंद आती है तो आप हमारी रचनाओं को अपने मित्र परिवारजनों एवं रिश्तेदारों के साथ Facebook ,Twitter ,Instagram , WhatsApp जैसे अनेक सोशल मीडिया के प्लेटफार्म पर अवश्य साझा करें और अपने सुझाव हमें कमेंट करके अवश्य बताएं।

कोई टिप्पणी नहीं

Blogger द्वारा संचालित.