Happy independence Day Shayari in Hindi | देशभक्ति शायरी

 


कई वर्षों तक गुलाम रहने के बाद हमारा देश भारत अंग्रेजों के चंगुल से 15 अगस्त 1947 को आज़ाद हुआ था। इसी आजादी को त्योहार के रूप में हम भारतीय प्रतिवर्ष स्वतंत्रता दिवस के रूप में मनाते हैं और एक दूसरे को शुभकामनाएं देते हैं। आज़ादी के लिए हुए संघर्ष एवं स्वतंत्रता सेनानियों के बलिदान को कोई भूल नहीं सकता। इस दिन सभी स्कूलों, कॉलेजों और सरकारी कार्यालयों में राष्ट्रीय ध्वज फहराया जाता है। इस मौके पर अगर आप अपने दोस्तों को शुभकामनाएं भेजना चाहते हैं  तो 15 अगस्त की बधाई शायरी बोलकर या  15 अगस्त स्वतंत्रता दिवस पर शायराना अंदाज़ में Happy independence Day Shayari in Hindi | देशभक्ति शायरी के माध्यम से अपने दोस्तों या रिश्तेदारों को विश कर सकते हैं । 



15 अगस्त पर शायरी फोटो

देशभक्ति शायरी

Happy independence Day Shayari in Hindi | देशभक्ति शायरी

Happy Independence Shayari 2023

आजादी का जश्न कुछ यूं मनाया करो 
छोड़ पुरानी रंजिशें आगे बढ़ जाया करो

Azadi ka jasn kuch Yun manaya karo
Chhod purani ranjisen aage badh Jaya Karo


***


सोने की चिड़िया कहा जाने वाला भारत देश महान है
स्वतंत्रता का पर्व मनाना आजादी के परवानों का सम्मान है

Sone ki chidiya kaha jaane wala Bharat Desh mahan Hai
Swatantrata ka parv manana azadi ke parvahon ka Samman hai

***

Happy independence Day Shayari in Hindi | देशभक्ति शायरी (desh bhakti shayari)

है कसम कि तुझको भारत मां
नीलाम नहीं होने देंगे
बह जाए लहू का हर कतरा
ईमान नहीं डिगने देंगे
सांसों में तिरंगा बसता है
नस- नस मे वतन परस्ती है
हम लाल है तेरे आंचल को
बदनाम नहीं होने देंगे
                                            .......'अनु-प्रिया'

Deshbhakti Wali Shayari



Hai Kasam ki tujhko Bharat maa
 Neelaam nahin hone denge 
bah jaye lahoo ka har Katra
 Imaan nahin digne denge 
saanson mein tiranga basata hai
 nas- nas me watan-parasti hai 
ham Laal hai tere Aanchal ko 
Badnaam nahin hone denge
                                             .....'Anu-priya'


15 अगस्त पर शायरी


Happy independence Day Shayari in Hindi | देशभक्ति शायरी |  Desh bhakti shayari



हम अपनी जिद पर जो आ जाए
औकात नहीं तूफानों की
गूंजेगा यशगान हमारा ही
ललकार है हिंदुस्तानी की


Ham apni zid per jo aa jaen
Aukat nahin toofano ki
Gunjega yashgaan hamara hi
Lalkar hai Hindustani ki

                                
***

Desh bhakti shayari


इंकलाब की आग को बुझने नहीं देंगे
तिरंगे की शान कभी मिटने नहीं देंगे
हिंदुस्तान के हम जैसे लालों के होते हुए
इस देश की आजादी छिनने नहीं देंगे 
Inqlaab ki Aag Ko bujhne nahin denge
Tirange ki shan kabhi mitane nahin denge
Hindustan ke ham Jaise Laalon ke hote hue
Is desh ki azadi kabhi chhinne nahin denge


***

चीटियों को भी पता है चाशनी कहां से आएगी
चिरागों को भी पता है रोशनी कहां से आएगी
हिंदुस्तान के दुश्मन भी अच्छे से जानते हैं
कि उनका सिर कुचल देने वाली वाहिनी कहां से आएगी
Chitiyon ko bhi pata Hai chasni Kahan se aayegi
Chiragon ko bhi pata Hai Roshani kahan se aayegi
Hindustan ke Dushman bhi acche se jante Hain
Ki unka sir kuchal Dene Wali Vahini kahan se aayegi


***

कहीं नक्शे का नक्श ना बदल जाए
गद्दारों के चंगुल में आकर हिंदुस्तान ना बदल जाए


Kahin nakshe ka naksh na Badal jaaye
Gaddaron ke changul mein Aakar Hindustan na Badal jaaye


***


15 अगस्त पर शायरी 2 line

वतन सा प्यारा महबूब मिला है
उस पर तिरंगा लहराता क्या खूब मिला है
Vatan se pyara Mehboob mila hai
Uss per tiranga lahrata kya khoob mila hai


***


केवल बातों से ही देश की हिफाजत की नहीं जाती
मुल्क के लिए तो फना होने की भी इजाजत ली नहीं जाती
Keval baton se hi desh ki hifajat ki nahin jaati
Mulk ke liye to fanah hone ki bhi ijaajat lee nahin jaati


***

जंग रंग ला ही देगी
आजादी ढंग ला ही देगी
Jung rang la hi degi
Azadi dhang la hi degi

***


मशक्कतों के बाद अंधेरों की हस्ती हिला रखी है
आजादी का तेल पीकर विकास की लौ जला रखी है

Maskaton ke baad andheron ki Hasti hila rakhi hai
Azadi ka tel pikar Vikas ki Lau jala rakhi hai

 
***

"अपनी आज़ादी को हम हरगिज़ मिटा सकते नहीं 
सर कटा सकते हैं लेकिन सर झुका सकते नहीं"
"Apni aazadi ko ham hargiz mita sakte nahin
Sar kata sakte hain lekin sar jhuka sakte nahin"

***


"जो भरा नही है भावों से, जिसमे बहती रसधार नही
वो हृदय नही है पत्थर है, जिसमें स्वदेश का प्यार नहीं"

Jo bhara nahin hai bhavo se, jisme bahti rasdhar nahin
Wo hraday nahi hai pathar hai jisme swadesh ka pyar nahin

***


Happy independence Day Shayari in Hindi | देशभक्ति शायरी

हिंदुस्तान की पावन धरा पर ही बस हमारी जिंदगानी हो
हमारी पहचान सिर्फ और सिर्फ हिंदुस्तानी हो

Hindustan ki Pavan Dhara per hi Bas hamari jingani Ho
Hamari pahchan sirf aur sirf Hindustani Ho

***

आजादी खैरात में नहीं मिली थी हमें
 कितनी चिंताएं जली थी न जाने कितने सालों तक

Azadi khairaat mein nahin mili thi hamen
Kitni chitaen jali thi na jaane kitne saalon Tak


***

ओढ़ तिरंगा फना हो गए भारत मां की गोद में
आजादी की खुशबू उस मिट्टी में आज भी महकती है

Aur tiranga Fanaa ho gaye Bharat maa ki gode mein
Azadi ki khushbu uss mitti mein Aaj bhi mahakati Hai

***

"सरफ़रोशी की तमन्ना अब हमारे दिल में है
देखना है ज़ोर कितना बाज़ू-ए-क़ातिल में है"

"Safroshi ki tamnna ab hamare dil mein hai
Dekhna hai zor kitna baju-e-qatil mein hai"


***

"मैं जला हुआ राख नहीं, अमर दीप हूँ
जो मिट गया वतन पर, मैं वो शहीद हूँ"

"Mai jala hua rakh nahin, amar deep hoon
Jo mit gaya watan par, mai wo shaheed hoon"


***

जब तक रगों में लहू का एक भी खतरा रहेगा
दुश्मनों को हम जैसी हस्तियों से खतरा रहेगा

Jab tak rago mein lahu ka ek  bhi Katra bachega
Dushmanon ko ham Jaisi hastiyon se khatra rahega.


***

वतन के लिए उल्फत तो मरकर भी कम न होगी
इस जमीं को तो आसमां में भी याद रखेंगे

Vatan ke liye ulfat to mar kar bhi kam na hogi
Is jami ko to Aasman mein bhi yaad rakhenge


***

आजादी की वर्षगांठ पर बच्चा-बच्चा बोलेगा
हर गली में शहर-शहर में 'वंदे मातरम' गूंजेगा

Azadi ki varshgaanth per baccha baccha bolega
Har gali mein Shahar-Shahar mein 'Vande Mataram' gunjega

***


Independence Day Shayari



अंजाम की परवाह हम जैसे देशभक्त नहीं करते
बस फर्ज निभाते हैं अपनी आखिरी सांस तक
भरोसा है आजादी की शाम होने नहीं वाली
दुश्मनों की ईट से ईट बजा देंगे बन लाश तक


Anjam ki parvah ham Jaise deshbhakt nahin karte
Bus farj nibhate Hain apni aakhri sans Tak
Bharosa Hai azadi ke Sham hone nahin wali
Dushmanon ki int se int Baja denge banke laash Tak

***


मोड़ देंगे हर जांबाज हिंदुस्तानी उस तूफान को
जो हमारे इरादों से टकराएगा
कर देंगे छलनी सीना दुश्मनों का निडर हो के
जो देश पर आंख गड़ाएगा


Mod denge har janbaaz Hindustani uss tufan ko
Jo hamare iradon se takraega
Kar denge chalni Seena dushmanon ka nidar Ho ke
Jo is Desh per aankh gadhaega


***

15 अगस्त की देशभक्ति शायरी Attitude 


Desh bhakti shayari| Happy independence Day Shayari in Hindi | देशभक्ति शायरी



15 अगस्त पर शायरी 2023


जीतने को सारा 
आसमान निकले हैं
हम हिंदुस्तान के बादल हैं 
गरजेगें भी...
और
जमकर बरसेंगे भी...
हथेलियों पर रखकर
जान निकले हैं
                                               ‌‌ ‌......'अनु-प्रिया'



Jeetne ko Sara
 Aasman nikle Hain
 ham Hindustan ke Badal Hain
 garjaenge bhi.....
aur
 jamkar barsenge bhi...
 hatheliyo par rakhkar
 Jaan nikle Hain
                                         ........'Anu-priya'



हिंदुस्तान हमारी आन बान शान है
इसके ऊपर भूल से भी आंख नहीं धरते
जान जुटा देंगे, हो जाएंगे कुर्बान
दुश्मन की गोलियों से हम नहीं डरते

Hindustan hamari Aan-ban-Shan hai
Iske upar bhul se bhi aankh nahin dharate
Jaan juta denge Ho jaenge kurban
Dushman ki goliyon se ham nahin darte

***


मातृभूमि का कर्ज अपने लहू से चुकाना होगा
इसके चरणों में तभी तेरा ठिकाना होगा
धरतीपुत्र कहलाएगा शूरवीर बन
बयां इतिहास में तेरा भी अफसाना होगा

Matrabhoomi ka karj Apne lahu se chukana hoga
Tabhi iske charanon mein Tera thikana hoga
Dhartiputra kahlayega shoorveer ban
Bayan itihaas mein Tera bhi Afsana hoga


***

हिंदू मुस्लिम में बंटना मत
अपने अंतर्मन को खंगाल लेना
तुम सब केवल हिंदुस्तानी हो
यह वतन तुम सबका है, संभाल लेना


Hindu Muslim me butna mat
Apne antrman Ko khangal lena
Tum sab Keval Hindustani Ho
Yah vatan Tum sabka hai Sambhal lena


***


Independence Day Shayari in Hindi




देश की आजादी के लिए हुए कठोर संघर्ष को कोई नहीं भुला सकता है ।भारत की स्वतंत्रता दिवस का इतिहास तो हम सभी जानते ही है कि कैसे हमारे वीर स्वतंत्रता सेनानियों ने अपनी जान पर खेलकर हमें आजादी दिलाई।  हम सभी भारतीय उन सभी महापुरुषों जैसे चंद्रशेखर आजाद, भगत सिंह, सुखदेव, राजगुरु, महात्मा गांधी, सुभाष चंद्र बोस, सरदार वल्लभ भाई पटेल, जवाहरलाल नेहरू, लाला लाजपत राय जैसे अनेक स्वतंत्रता के पुजारियों का दिल से अभिवादन करते हैं| उनके इस कर्ज को हम कभी नहीं चुका पाएंगे।उन महान पुरुषों, स्त्रियों को हम सब की तरफ से शत-शत नमन है


Happy independence Day Shayari in Hindi | देशभक्ति शायरी





गंगा को छोडा, हिमालय को छोड़ा
जिसने ताज को छोड़ा, शिवालय को छोड़ा
उनका इस वतन से अब कोई सरोकार नहीं
टाटा बाय-बाय उनको, आगे से कोई नमस्कार नहीं

Ganga ko chhoda Himalaya ko chhoda
Jisne Taj ko chhoda shivalay ko chhoda
Unka is watan se ab koi Sarokar nahin
Tata, bye-bye unko aage se koi namaskar nahin


***

Happy independence Day Shayari in Hindi | देशभक्ति शायरी



कोई पूछता है पहचान अपनी
 तो तिरंगा दिखा देते हैं
पूछता है जब जान अपनी, 
दिल वतन के प्यार में रंगा दिखा देते हैं

Koi puchta hai pahchan apni
Tiranga dikha dete Hain
Puchta Hai jab Jaan apni
Dil watan ke pyar mein Ranga dikha dete Hain


***

जब तक सीने में जान रहेगी
उद्घोष करेंगे 'जय हो' का
दे आखरी सलामी तिरंगे को
अनुभूति करेंगे गौरव का

Jab tak Sine mein Jaan rahegi
Udghosh karenge 'Jay Ho' ka
De aakhri Salam tirange ko
Anubhuti karenge Gaurav ka

***

भारत सर्व शक्तिमान है 
इसकी अपनी अलग आन बान शान है
 हम सब इसकी धरा में फले फूले हैं
 इसके वजूद से ही बस हमारी पहचान है

Bharat sarv shaktiman Hai 
Iski apni alag Aan ban Shan Hai
 Ham sab iski Dhara mein phale Phule Hain Iske vajud se hi bas hamari pahchan hai


***

तोड़ नफरत की दीवारें 
मोहब्बत की मिसाल खड़ी करो
हाथों में हाथ धर एक-दूसरे के 
अपनी सोच विशाल, थोड़ी बड़ी करो

Tod nafrat ki deewaren
Mohabbat ki misal Khadi karo
Hathon mein hath Dhar ek dusre ke
Apni soch Vishal thodi badi karo

***



देशभक्ति पर बेहतरीन हिंदी शायरी 


देशभक्ति पर बेहतरीन हिंदी शायरी | Desh Bhakti Best  Hindi Shayari 2023-24|


15 August Day Shayari 


आग ऐसी वफा की लगा जाइए
जलजला सबमें ऐसा जला जाइए


गर बढ़े जो कदम तो वो आगे बढ़े
हौसला दुश्मनों का हिला जाइए


वार बैरी का हो तो वो सीने पे हो 
रण में जादू वो अपना चला जाइए


सींच अपने लहू से वतन ये चमन
मोल जख्मों का अपने भुला जाइए


न झुकें सर तेरा ना तिरंगा झुके
फूल वीरों के पथ पे खिला जाइए


कतरा-कतरा बहे खून का गर तेरे
    बूंदे माटी से अपनी मिला जाइए ।

                                 ...... 'अनु-प्रिया'

Short Poem on Independence Day 

देशभक्ति पर बेहतरीन हिंदी शायरी | Desh Bhakti Best  Hindi Shayari 2023-24|

Small Poem on Independence Day in Hindi


aag aisi wafa ki laga jayiye
jalajala sabame aisa jala jaayiye


gar badhe jo kadam to vo aage badhe
howsla dushmanon kaa hila jaayiye


vaar bairi ka ho to vo seene pe ho
raṇ men jaadu vo apna chala jayiye


siinch apne lahu se watan ye chaman
mol jakhmon ka apne bhula jaayiye 


na jhuken sar tera na tirangaa jhuke
phool veeron ke path pe khila jaayiye 


katra-katra bahe khoon ka gar tere
    boonde maaṭi se apni mila jaayiye.

                                ...... 'Anu-priya'



 Independence Day Poem in Hindi


(आज तिरंगा फिर तुमको फहराना होगा)




देश- प्रेम के नाम पर हम सभी देशवासी स्वतंत्रता दिवस और गणतंत्र दिवस जैसे शुभ अवसर पर झंडा फहराने और राष्ट्रगान गाने से अधिक और कुछ नहीं करते। यदि देश प्रेम की सच्ची भक्ति और तपस्या कोई करता है, तो वह एक देशभक्त सैनिक से अधिक और कोई नहीं। हमारे जवान अपनी वर्दी पहने दिन -रात सीमाओं पर डट कर कभी ठिठुरते ठंड में, तो कभी भीषण  लू के प्रचंड वेग में, कभी भीड़- भाड़ वाले इलाकों में, तो कभी निर्जन वन में आतंकवादियों के बीच अपना कर्तव्य निभाते- निभाते शहीद तक हो जाते हैं ताकि हमारे त्योहारों की रौनक फीकी न पड़े और हम सभी भारतवासी अपने अपने घरों में सुकून से सो सकें। उनका अपना यह कर्तव्य उन्हें अपने घर- परिवार से दूर तो रखता ही है, साथ ही साथ कई बार उन्हें अपने भोजन, नींद, आराम का भी त्याग कर कठिन परिस्थितियों में अनुशासित जीवन बिताना होता है। देश के लिए मर-मिटने का भाव एक सैनिक के अलावा और किसी में  शायद नहीं होता। उनके मजबूत कंधों पर  ही देश की सुरक्षा का भार रहता है जिसके लिए वे आजीवन प्रतिज्ञाबद्ध रहते हुए अपनी जान की चिंता तक नहीं करते। ऐसे वीर सपूतों को मेरा सादर नमन। मेरा यह गीत भारत-माता की उन्हीं वीर सपूतों को समर्पित है, जिनके स्वास- स्वास में तिरंगा बसा हुआ है। आशा है देश भक्ति के लिए मेरी यह छोटी सी कोशिश आने वाले बच्चों में भी राष्ट्र- प्रेम की भावना को जागृत करेगी।


स्वतंत्रता दिवस पर वीर रस की कविता


Desh Bhakti Wali Patriotism Kavita poem written by Anupriya | देशभक्ति कविता शायरी


15 August Poem in Hindi



उठो सैनिको!आज तिरंगा 
फिर तुमको लहराना होगा
कफन बांधकर सिर पर अपने
मिट्टी का कर्ज निभाना होगा।


कितनों ने शीश कटाए हैं
पर हार कभी ना मानी है
वे अडिग रहे उस मंजिल पर
जो मन में करके ठानी है
सेवा में, वतन- परस्ती में
अब अपनी जान लुटानी है
छलनी हो जाए सीना चाहे
इज्जत नहीं गंवानी है
लहू का एक-एक कतरा तुमको
फिर से आज बहाना होगा
उठो सैनिको आज तिरंगा.......

अपनी मां, बेटी, पत्नी की
आंखों में हरदम पानी है 
पर धरती मां की खातिर उसने 
दे दी जिंदगानी है
वीर शिवा-राणा की गाथा
फिर से तुमको गानी है
तुमसे ही महफूज धरा अब 
तुमसे नयी कहानी है
देश के बच्चे- बच्चे को अब 
भगत -सुभाष बनाना होगा
उठो सैनिको आज तिरंगा.......
उठो सैनिको आज तिरंगा.......


 वंदे मातरम
भारत माता की जय.  
                                      

                                     ..... 'अनु-प्रिया'


Desh Bhakti Kavita/देशभक्ति कविता


uṭho sainiko!aaj tirangaa 
phir tumako laharaanaa hogaa
kaphan baandhakar sir par apane
miṭṭii kaa karj nibhaanaa hogaa.


kitanon ne shiish kaṭaae hain
par haar kabhii naa maanii hai
ve aḍig rahe us manjil par
jo man men karake ṭhaanii hai
sevaa men, vatan- parastii men
ab apanii jaan luṭaanii hai
chhalanii ho jaae siinaa chaahe
ijjat nahiin gamvaanii hai
lahuu kaa ek-ek kataraa tumako
phir se aaj bahaanaa hogaa
uṭho sainiko aaj tirangaa.......

apanii maan, beṭii, patnii kii
aankhon men haradam paanii hai 
par dharatii maan kii khaatir usane 
de dii jindagaanii hai
viir shivaa-raaṇaa kii gaathaa
phir se tumako gaanii hai
tumase hii mahaphuuj dharaa ab 
tumase nayii kahaanii hai
desh ke bachche- bachche ko ab 
bhagat -subhaash banaanaa hogaa
uṭho sainiko aaj tirangaa.......
uṭho sainiko aaj tirangaa.......


 vande maataram
bhaarat maataa kii jaya.  
                                     
                                     ..... 'anu-priya'

***  

दोस्तों! अगर आपको Happy independence Day Shayari in Hindi | देशभक्ति शायरी share करनी है तो आप इन रचनाओं को अपने मित्रों एवं रिश्तेदारों के साथ Facebook ,Twitter ,Instagram , WhatsApp जैसे अनेक सोशल मीडिया के प्लेटफार्म पर अवश्य साझा करें और स्वतंत्रता के पर्व को जोश और उल्लास के साथ मनाएं साथ ही अपने सुझाव हमें कमेंट करके अवश्य बताएं। 


कोई टिप्पणी नहीं

Blogger द्वारा संचालित.