80+ Akelepan Zindagi Dard bhari shayari | रिश्तो की दर्द भरी शायरी 2024

 




जब हमारे पास के रिश्तों में तकरार होती है, तो हमारी मानसिक स्थिति भी सही नहीं रहती। हम खुद को हरदम ,हरपल अकेला और असहाय महसूस करते हैं। इससे हमें दुख और असमंजस महसूस होता है, जिससे हमें अपने आप को संभालने में कठिनाई होती है। उस समय हमें जरूरत होती है इस प्रकार की दर्द भरी शायरी |Akelepan Zindagi Dard bhari shayari | रिश्तो की दर्द भरी शायरी 2024  पढ़ने की। यदि आप में से कुछ लोग इस स्थिति से गुजर रहे हों तो वे लोग इसे अपने व्हाट्सएप स्टेटस पर शेयर करके अपने दुख को साझा कर सकते हैं और अपने दर्द को कम कर सकते हैं।

Content :---

  • जिंदगी दर्द भरी शायरी 
  • Zindagi Dard Bhari Shayari in Hindi 
  • रुला देने वाली शायरी 
  • जिंदगी की दर्द भरी शायरी|
  • Zindagi ki Dard Bhari Shayari in Hindi
  • Two Line Sad Shayari|दो लाइन की सैड शायरी
  • Gam bhari shayari|गम भरी शायरी 


जिंदगी दर्द भरी शायरी



Akelepan Zindagi Dard bhari shayari | रिश्तो की दर्द भरी शायरी 2024| Shayarimetro



प्यार में मिला धोखा और उसका दर्द इंसान कभी नहीं भूल पाता। कहते हैं न कि प्यार इतनी खुशियां नहीं देता, जितनी तकलीफ एक टूटा हुआ दिल देता है।


Zindagi Dard Bhari Shayari in Hindi 



अपने आप को क्या तुम्हारा उलझा हुआ सा ख्वाब समझूं
कागज पर गिरी स्याही को तेरा बिखरा हुआ जवाब समझूं
हाजिर जवाबी का यूं तो कोई जवाब नहीं तेरा
तो मतलब,दोस्ती को अपनी बस पीला गुलाब समझूं।।



Akelepan Zindagi Dard bhari shayari | रिश्तो की दर्द भरी शायरी

 


80+Best Dard bhari shayari | रिश्तो की दर्द भरी शायरी 2024| shayarimetro



Apne aap ko kya tumhara uljha hua sa Khwab samjhun
Kagaj per giri syahi Ko Tera bikhra hua jawab samjhun
Hazirjawabi ka Yun to koi jawab nahin tera
To matlab Dosti ko apni bas peela gulab samjhun

***


उतना लिख नहीं पाते जितना चाहते तुम्हें थे
तुम शब्दों में तलाश करती थी हम पुकारते तुम्हें थे
हाथ छुड़ा लोगी बस केवल तहरीर न लिखने पर
आज शायर बने बैठे हैं जो कल तलक निहारते तुम्हें थे।।


 Dard bhari Zindagi Shayari in Hindi 


80+Best Dard bhari shayari | रिश्तो की दर्द भरी शायरी 2024| shayarimetro



Utna likh nahin paate jitna chahte tumhen the lo
Tum shabdon mein talash karti thi ham pukarte tumhen the
Haath chhuda logi bas Keval tahrir na likhne per
Aaj shayar Bane baithe Hain Jo kal talak nihaarte tumhen the.

***


शहजादी बनाकर रखता, हाथ थामा तो होता
शिकायतें भी सर-आंखों पर,आजमाया तो होता
आज मजबूर से हैं, तुम्हें दर्द में देखकर भी
कल मौत से भी भिड़ जाते, गले लगाया तो होता।।

Shehzaadi banakar Rakhta, haath thama to hota
Shikayten bhi sar aankhon per, aajmaya to hota
Aaj majbur se hai tumhen Dard mein dekhkar bhi
Kal maut se bhid jaate, gale lagaya to hota.

***



मैं पहले जैसी तो ना रही 
आपसे मिलने के बाद
ख्वाहिशें भी वैसी न रही 
तुमसे मिलने के बाद।।

Main pahle Jaisi to na rahi 
Tumse milane ke baad 
Khwahishen bhi vaise na rahi 
Tumse milane ke baad.


***


अगले की अहमियत करना जानते हैं
उनको सस्ता नहीं बताते 
अकेले भी खुश रह लेते हैं
जबरदस्ती रिश्ता नही निभाते ।।

Agale ki ahmiyat karna jante Hain 
Unko sasta nahin batate 
Akele bhi Khush rah lete hain 
Jabardasti rishta nahin nibhate.

***


उम्र सफर पर है, बिना रुके
ख्वाहिशों के बोझ तले हम झुके
कैसे पी जाऊं तल्खी जमाने भर की
बेरुखी तुम्हारी तो कब का सह चुके।।

Umra Safar per hai bina ruke 
Khwahishon ke bojh tale ham jhuke 
Kaise Pi jaaun talkhi jamane bhar ki berukhi tumhari to kab ka sah chuke.

***


रहा न जाएगा, अब तुम्हारे बिना
कुछ कहा न जाएगा, अब तुम्हारे बिना
मेरे घर की दर- ओ-दीवार तुम
ढहा भी न जाएगा, अब तुम्हारे बिना।।

Raha Na jayega ab tumhare bina 
Kuchh kaha na jayega ab tumhare bina 
Mere Ghar ke dar-o-deewar tum
Dhaha bhi Na jayega ab tumhare bina.

***


वादे तक टूट जाते हैं मोहब्बत में 
रिश्तों के धागे तक टूट जाते हैं मोहब्बत में 
जिंदगी भर साथ निभाएंगे, सोच रखा था
मजबूत इरादे तक टूट जाते हैं मोहब्बत में।।


Vaade takTut jaate Hain Mohabbat mein
Rishto ke dhaage Tak Tut jaate Hain Mohabbat mein
Zindagi bhar sath nibhaenge soch Rakha tha 
Majbut iraade tak Tut jaate Hain Mohabbat mein.

***


मीलों दूर होकर भी पास लगते थे
लाखों करोड़ों में वह खास लगते थे
एक चोट पर ही उनकी धड़क जाता था दिल
फलों में स्ट्रॉबेरी, फूलों में पलाश लगते थे।।


 जिंदगी की दर्द भरी शायरी 

प्यार ,मोहब्बत , अपनेपन का एहसास बेहद खास होता है, लेकिन हर किसी के नसीब में यह नहीं लिखा होता है। 


Akelepan Zindagi Dard bhari shayari | रिश्तो की दर्द भरी शायरी


80+Best Dard bhari shayari | रिश्तो की दर्द भरी शायरी 2024 शायरी मेट्रो



Melon dur hokar bhi paas lagte the
Lakhon karodon mein vah khaas lagte the
Ek chot per hi unki dhadak jata tha dil
Fruits mein strawberry, Flowers mein Palash lagte the.

***



Ek Dard Bhari Shayari in Hindi

 रुला देने वाली शायरी



अब तो रिश्ते एक दिखावा बनकर रह गए हैं, रिश्तों में प्यार, लगाव लगभग खत्म हो गया है इसका एक मुख्य कारण एकाकी परिवार का होना भी है। संयुक्त परिवार अब कम ही रह गए हैं, जो रिश्तेदारों से घर भरे रहते थे वो अब खाली हो गए हैं। पहले रिश्तों में जो आपसी जुड़ाव था, अब औपचारिक मात्र हो गया है। काम की तलाश में, पैसा कमाने की होड़ में हम अपने सभी रिश्तों को भुलाते जा रहे हैं जो कि सही नहीं है। 

अब हम जिंदगी को कठोर नहीं कहते
प्यारी नहीं लगती, फिर भी बोर नहीं कहते
दिल की तकलीफों को बस अंदर समेटे हैं
दर्द बेजुबां है, हम भी शोर नहीं करते।।

Ab ham jindagi ko kathor nahin kahate pyari nahin lagti, fir bhi Bor nahin kahate Dil ki taklifon ko bas andar samete Hain Dard bejuba hai, ham bhi shor nahin karte.

***


रुलाया न कर, हर बार मुझे यूं
सताया न कर, हर बार मुझे यूं
टूटा है भरोसा, बार-बार मेरा
आजमाया न कर बार-बार मुझे यूं।।

Rulaya Na kar har baar mujhe Yun
Sataya Na kar har bar mujhe Yun 
Tuta hai Bharosa baar-baar Mera 
Aajmaya na kar baar-baar mujhe Yun.

***


भला औरों के मुकाबले कम पाया मैंने 
दूसरों को खुश, खुद को नम पाया मैंने
कहने को तो यहां सभी इंसान कहे जाते हैं
तपते लोगों में खुद को नरम पाया मैंने।।

Bhala auron ke mukabale kam paya maine
Dusron ko Khush, khud Ko Nam paya maine
Kahane ko to yahan sabhi Insaan kahe jaate Hain
Tapte logon mein khud Ko naram Paya maine.


जख्म इतना जरूरी था
कि घाव तक मेहरबान था
सफर जो अभावों का था
कि मोलभाव तक हैरान था।।

Jakhm itna jaruri tha ki
Ghaav Tak meherban tha
Safar Jo abhavon ka tha 
ki Mol-bhaav Tak hairan tha.

***


सच है झूठ का कोई मुकाबला नहीं
सच बोलो तो लोग गिला करते हैं
इख्तियार नहीं रहा अब हमें अच्छी बातों पर
सब तरफ झूठ, धोखा, फरेब मिला करते हैं।।

Sach hai, jhooth ka koi mukabala nahin
Sach bolo to log Gila karte Hain
Ikhtiyar nahin raha ab hamen acchi baaton per
Sab Taraf jhooth, dhokha, fareb mila karte Hain.

***





जा रहे हो जाओ,रोकेंगे नही
दिल को समझा लेंगे, टोकेंगे नहीं
टटोलना कभी इश्क को हमारे भी बरखुरदार
ये होंठ खुल रहे आज, कल बोलेंगे नहीं।।


Ja rahe ho jao rokenge nahin 
Dil Ko samjha lenge tokenge nahin 
tatolna kabhi Ishq ko hamare bhi barkhurdar 
ye honth khul rahe hain aaj kal bolenge nahin.

***


हो गए हैं नाकाम अपनी कोशिशों से
यहां हर क्षण इक नया करिश्मा लगा है
उम्र गुजर गई सारी तुम्हें पहचानने में
आंखों पर अब तक हमारे चश्मा लगा है।।

Ho gaye hain nakaam apni koshishon se
Yahan har pal ek naya karishma laga hai
Umra Gujar gai sari, Tumhen pahchanne mein
Aankhon per ab tak hamare chashma Laga hai.

***



कहीं जाऊं खो, दूर आसमान में
किसी दूर जंगल, दूर रेगिस्तान में
न रिश्ते, न रिवाज, न ही जिम्मेदारी हो
भटक जाऊं भविष्य में, न आऊं वर्तमान में।।

Kahin jaun kho, dur Aasman mein
Kisi dur Jungle dur registan mein
Na rishte, na riwaj, na hi jimmedari ho
Bhatak jaaun bhavishya mein, na aaun vartmaan mein.

***

Zindagi dard bhari shayari 


शिकवा-शिकायत का मतलब है कि व्यक्ति अपने मन में रहे निराशा, असंतोष, या आपत्ति को व्यक्त कर रहा है। यह शिकायत व्यक्ति के अधिकारों का प्रतिकूलता या असंतोष का प्रतीक हो सकती है। जब हम किसी से बहुत कुछ आशा करते हैं और वह उस आशा के अनुरूप नहीं उतरता तो कहीं न कहीं यह बातें हमारे मन में असंतोष घर कर लेती हैं और हमारे मन में अवसाद जन्म ले लेता है।


वही तुम, वही हम
फिर भी क्यों है आंखें नम
क्या पहले बस खुशियां ही थी
न थी शिकायत, न थे गम।।

Vahi Tum, vahi ham
Fir bhi kyon hai Aankhen Nam
Kya pahle bas khushiyan hi thi
Na thi shikayat, Na the gam.


***


कातिल उनकी आंखें मुझ पर आघात करती हैं
लब मेरे कुछ बोलते नहीं, वो ही बात करती हैं
जानबूझकर नहीं मिलता आजकल उनसे
वो ही सपनों में आ-आकर मुझसे मुलाकात करती हैं।।

Katil unki Aankhen mujh per aaghat Karti Hain 
Lab mere kuch bolate nahin, Wo hi baat Karti Hain
Janbujhkar nahin milta aajkal unse 
Wo hi sapnon mein aa-aakar mujhse mulakat karti hai.

***


उसका चेहरा, उसकी आंखें 
उसकी हंसना, उसकी बातें
जख्मी हो गईं दिल की ख्वाहिश
देखा जब औरों से मुलाकातें।।

Uska chehra, uski Aankhein 
Uska hasna, uski baatein 
Jakhmi Ho gai Dil ki khwahish
Dekha jab auron se mulakatein.

***


तुम्हें कितना चाहते थे explain नहीं कर सकते थे 
मजबूरियों की अपनी complain नहीं कर सकते थे
तुमने भी तो न पुकारा कभी नाम मुड़कर
क्या फ्रेंडशिप तक maintain नहीं कर सकते थे।।


 Dard bhari Zindagi ki Shayari 


रिश्तों में दर्द होना एक आम स्थिति है, जो जीवन में कभी न कभी हम सभी अनुभव करते हैं। यह कई प्रकार का हो सकता है - प्यार में, मित्रता में, परिवार में, या किसी और संबंध में। किसी भी रिश्ते में दर्द होना दुखद होता है, क्योंकि यह हमारी भावनाओं को प्रभावित करता है और हमारे मन को अस्थिर कर देता है। 

Akelepan Zindagi Dard bhari shayari | रिश्तो की दर्द भरी शायरी


80+Best Dard bhari shayari | रिश्तो की दर्द भरी शायरी 2024| shayarimetro



Tumhen Kitna chahte the, explain nahin kar sakte the
Majburiyon ki apni complaint nahin kar sakte the
Tumne bhi to Na pukara kabhi Naam mudkar
Kya friendship Tak maintain nahin kar sakte the.

***


मैं कोई भटकन नहीं ऐसी,
कि गलत बताकर चले जाओगे।
हमारी जिंदगी कोई म्यूजिक प्लेयर नहीं 
जो अपनी मर्जी का बजाकर चले जाओगे।

Main koi bhatkan nahin aisi 
ki galat Batakar chale jaaoge 
Hamari jindagi koi music player nahin 
Jo apni marji ka Bajakar chale jaaoge.

***



दर्द भरी शायरी हिंदी में

इस दुनिया में सच्ची मोहब्बत बहुत ही कम देखने को मिलती है । लगता है जैसे कि वह वक्त गुजर गया गुजर गया,जब प्यार-मोहम्मद अपनेपन की बाते होती थी।अब तो हर तरफ धोखा, बेवफाई, अकेलापन ,दर्द, यही सब हर तरफ देखने को मिलता रहता है।


चलो तोहफे में कुछ झक्कास दिया जाए
जिसकी जरूरत हो तुमको कुछ खास दिया जाए
सुना है अब तुम्हें जंचती नहीं महफिल मेरी
क्यों न अपनी टोली से तुम्हें अवकाश दिया जाए।।

Chalo tohfe mein kuch jhakkas diya jaaye
Jiski jarurat Ho tumko kuch khas Diya jaaye
Suna hai ab tumhen janchti nahin mahfil meri
Kyon Na apni toli se tumhen avkash diya jaaye.

***


कुछ इस कदर बदला आपके प्यार का रुख
कि नफरत करने को मजबूर हो चला
तुम्हें पाकर भी क्या कुछ खोया नहीं मैंने
कि रुखसत करने को मजबूर हो चला।।

Kuch is kadar badla aapke pyar ka Rukh 
Ki nafrat karne Ko majbur Ho chala Tumhen paakar bhi kya kuch khoya nahin maine 
Ki rukhsat karne Ko majbur ho chala.

***


जब भी मोहब्बत में मरने का वक्त आएगा
खिताब-ए-वफा नाम किसी के करने का वक्त आएगा
जहन में ले आना बस इस शख्स का नाम
जब अमर किसी प्रेम कहानी के करने का वक्त आएगा।।

Jab bhi Mohabbat mein Marne ka waqt aayega
Khitaab-e-Wafa naam kisi ke karne ka waqt aayega 
Jehan me le aana bas is shakhs ka naam
Jab Amar kisi Prem kahani ke karne ka waqt aayega.

***


सीने से लगाकर रखा है तेरी यादों को अब तक
एक जख्म लगाकर रखा है तेरी बातों का अब तक
क्या कहा था कि मेरे किसी लायक नहीं तुम
दर्द कुरेदकर रखा है उन मुलाकातों का अब तक।।

Seene se lagakar rakha hai Teri yadon ko ab tak 
Ek jakhm Laga kar rakha hai teri baaton ka ab tak
Kya kaha tha ki mere kisi layak nahin tum
Dard kured kar rakha hai un mulakaton ka ab Tak.

***


संवरती रहना, जिस किसी के भी साथ हो
महकती रहना, जिस किसी के भी पास हो
दुआ है हमारी बस आपकी खातिर
गरजती रहना, जिस किसी के आसपास हो।।

Sanvarti rahana, jis kisi ke bhi sath ho
Mahakati rahana, jis kisi ke bhi paas ho
Dua hai hamari bas aapki khatir
Garjati rahana, jis kisi ke aaspaas ho.

***


तेरी यादें भी कमाल हैं 
रह-रह कर आ जाती हैं
कभी आंख भिगा देती हैं
कभी आंसू चुरा जाती हैं।।

Teri yadein bhi Kamal hain
Rah-rah ke aa jaati hain
Kabhi aankh bhiga deti hain
Kabhi aansu chura jaati hai.

***


वो दिन दुःख भरे थे
जब हम तुम पर मरे थे
कितने पागल, कितने नादान थे
कि तुझे खोने तक से डरे थे।।

Vo din dukh bhare the
Jab ham Tum per mare the 
Kitne pagal, kitne nadaan the
Ki tujhe khone Tak se dare the.

***


कसकर थाम लेना तुम हमें
वक्त बेवक्त लड़खड़ाते बहुत हैं
कुरेदते रहना हमारे अंदर के जख्म
साला हम ऊपर-ऊपर मुस्कुराते बहुत हैं।।

Kas kar tham Lena Tum hamen 
Waqt -bewaqt ladkhadate bahut hain 
Kuredte rahana hamare andar ke jakhm 
Sala ham upar-upar muskurate bahut hain.


***


समझाने वाले तो बहुत मिल जाते हैं जिंदगी में
समझने वाले कहां मिला करते हैं
तड़पाने वालों से तो भरी है दुनिया,
तड़पने वाले कहां मिला करते हैं।।

Samjhane wale to bahut mil jaate Hain jindagi mein
Samajhne wale kahan Mila karte Hain
Tadpane walon se to Bhari hai duniya
Tadapne wale kahan Mila karte Hain.

***

जिंदगी की दर्द भरी शायरी|
 Zindagi ki Dard Bhari Shayari in Hindi


आजकल की भाग-दौड़ की जिंदगी में कोई भी शख्स ऐसा नहीं है जिसकी जिंदगी में दर्द ना 
हो। किसी की जिंदगी में प्यार को लेकर दर्द है, किसी की जिंदगी में नौकरी को लेकर दर्द तो किसी की जिंदगी में अपनों से मिली बेवफाई को लेकर दर्द।


वक्त -बेवक्त एक नई रवानी लिखते रहे
उस बेवफा के नाम अपनी जवानी लिखते रहे
आवाज को संजोए रहे उसकी, अपने अल्फाजों में इस कदर
अपनी तन्हाइयों के दिनों में भी उसकी कहानी लिखते रहे।।

Akelepan Zindagi Dard bhari shayari | रिश्तो की दर्द भरी शायरी



80+Best Dard bhari shayari | रिश्तो की दर्द भरी शायरी 2024| shayarimetro



Waqt bewaqt ek nai ravani likhate rahe
Us bewafa ke Naam apni javani likhate rahe
Awaaz ko sanjoy rahe uski, apne alfaazon mein is kadar
Apni tanhaiyan ke dinon mein bhi uski kahani likhate rahe.

***


दिलों के फसाने बदलते देर नहीं लगती
प्यार में जख्म मिलते देर नहीं लगती
चलो तुम्हें बड़े ही पते की बात बतलाऊं
यार! सपनों को आग लगते देर नहीं लगती।।

Dilon ke fasane badalte der nahin lagti
Pyar mein jakhm milte der nahin lagti
Chalo Tumhen bade hi pate ki baat bataun
Yaar! sapnon Ko Aag lagte der nahin lagti.

***


सपनों की धूप में
यादों की छांव में
कांटा बोया गया है जानबूझकर 
अजनबी तेरे पांव में।।

Sapnon ki dhup mein
Yadon ki chhanv mein
Kaanta boya gaya hai janbujhkar
Ajnabi tere paon mein.

***


गम बोलते हैं, कहने दे
जाम बोलते हैं बहने दे
दिलों से पूछा जब हाल चाल उनके
मुस्कुरा बोलते हैं, बस रहने दे।।

Gam bolte hain, kehne de
Jaam bolte hain, bahne de
Dilo se poocha jab haal-chaal unke
Muskura bolte hain, bas rahne de

***

.
नए-नए बाजार सजने लगे हैं यहां-वहां
नए-नए व्यवहार बनने लगे हैं यहां-वहां
हर तरफ धोखा है, माया है, नफरत है
लोग जीत-हार करने लगे हैं यहां-वहां।।

Naye-naye bazaar sajne Lage Hain yahan- vahan
Naye-naye vyavhar banne Lage Hain yahan vahan
Har Taraf Dhokha hai, Maya hai, nafrat hai
Log Jeet-haar karne lage Hain yahan-vahan

***


अपनी मोहब्बत की तपिश से हमें न जलाइए
बहुत संभले हुए हैं हम
इश्क पर हमें ऐतबार नहीं रहा ज्यादा अब
इस कदर दिल से जले हुए हैं हम।।

Apni Mohabbat ki tapish se hamen na jalaiye
Bahut sambhale hue hain ham
Ishq per hamen eitbar nahin raha jyada ab
Is kadar Dil se Jale hue hain ham.

***


दुनिया की भीड़ में भला 
कौन किसको जानता है
जो जानता भी होगा 
वह किसको पहचानता है

Duniya ki bheed mein Bhala Kaun kisko jaanta hai
Jo jaanta bhi hoga 
vah kisko pahchanta hai

***


एक आदत सी लगा रखी है तुम्हारे बिना
कुछ शिकायत सी लगा रखी है तुम्हारे बिना
जीते भी तो कैसे यूं घुट-घुट कर
एक अदालत सी लगा रखी है तुम्हारे बिना।।

Ek aadat si laga rakhi hai tumhare bina
Kuch shikayat si laga rakhi hai tumhare bina
Jeete bhi to kaise Yun ghut-ghut kar
Ek Adalat si laga rakhi hai tumhare bina

***



गुनाह तो तब हो जब दिल किसी और को चाहे
तेरी यादों के भंवर से बाहर निकलना अब बस की बात नहीं
हुजूर तो बिना सबूत के ही फैसला सुना देते हैं
खैर, आपके फैसले की कदर न करना मेरे बस की बात नहीं।।

Gunah to tab Ho jab Dil kisi aur Ko chahe
Teri yadon ke bhanwar se bahar nikalna ab bas ki baat nahin
Huzoor to Bina saboot ke hi faisla suna dete Hain
Khair aapke faisle ki kadar na karna mere bas ki baat nahin.

***


किसी को अपनी नजरों से दूर होते देखा
उसकी यादों में खुद को चूर होते देखा
कितनी दर्द से भरी होती है मोहब्बत यारा
अपने मजबूत दिल को मजबूर होते देखा।।

Kisi ko apni najron se dur hote dekha
Uski yaadon mein khud Ko Chur hote dekha
Kitni Dard se Bhari Hoti hai Mohabbat Yara
Apne majbut dil ko majbur hote hue dekha.

***


जो मौज में होते हैं
अपना दर्द दिखाते बहुत हैं
जो दर्द में होते हैं
ऊपर-ऊपर मुस्कुराते बहुत हैं।।

Jo mauj mein hote Hain 
Apna Dard dikhate bahut hai
Jo Dard mein hote Hain
Upar-upar muskurate bahut hain

***

Shayari dard bhari Zindagi Hindi 



वह भी क्या दिन थे 
जब गरीबों तक मुस्कुराती थी
उन गलियों की भी क्या खुशबू थी 
जहां गालियां तक गुदगुदाती थी

Vah bhi kya din the
Jab garibi Tak muskurati thi
Un galiyon ki bhi kya khushbu thi
Jahan galiyan tak gudgudati thi.

***


मेरे दिल का इलाज पूछ लीजिए
जाते-जाते बस मेरा मिजाज पूछ लीजिए
यह जो दर्द आ ठहरा है दिल में मोहब्बत बन
उसकी धड़कन, उसकी आवाज बूझ लीजिए।।

Mere dil ka ilaaj poochh lijiye
Jaate- Jaate bas Mera mijaj poochh lijiye
Yah Jo Dard aa thahara hai Dil mein Mohabbat ban
Uski Dhadkan, uski awaaz boozh lijiye.

***


वह मेरी मोहब्बत को बस खेल कहते हैं
मुझे शख्स अनोखा बेमेल कहते हैं
हम उसको समझते थे अपने दिल की मेट्रो
वह हमको बिन इंजन की रेल कहते हैं।।


Vah meri Mohabbat Ko Bas Khel kahate Hain
Mujhe shakhs anokha, bemail kahate Hain
Ham unko samajhte the Apne dil ki metro
Vah humko bin engine ki rail kahate Hain.

***


कोशिशें पुरजोर की थी, तेरे रंग में रंगने की
चाहतों की डोर ली थी, तेरे संग में उड़ने की
नहीं जोर किस्मत पे था मेरे यारों
हिचकियां भी शोर की थी, तेरे संग रहने की।।

Koshishen PurJor ki thi, tere rang mein rangne ki
Chahton ki Dor Li thi, tere sang mein udane ki
Nahin Jor kismat pe tha mere yaaron
Hichakiyan bhi shor ki thi, tere sang Rahane ki

***


एक कहानी लिख डाली
एक बाकी रह गई है
पुराने पन्नों में जिक्र नहीं तेरा
बस तू ही बाकी रह गई है।।

Ek kahani likh Dali
Ek baki rah gayi hai
Purane pannon mein jikr nahin Tera
Bas tu hi baki rah gayi hai.

***


जिंदगी के पन्नों को
खूबसूरती से लिखने का सोचा था
फर्ज निभाकर,कर्ज चुकाकर
कुछ हल्का होने का सोचा था।।

Jindagi ke pannon ko
Khubsurti se likhane ka socha tha
Farj nibhakar,karz chukakar
Kuch halka hone ka socha tha.

***


तुम अच्छे हो, अच्छे सही
सच्चे हो, सच्चे सही
अपनी धुन के बस पक्के रहो
हम कच्चे हैं, कच्चे सही।।

Tum acche ho, acche sahi
Sacche ho, sacche sahi
Apni dhun ke bas pakke raho
Ham kacche hain, kacche sahi.

***



अदा गम छुपाने की 
कि आंसू तक निकलते नहीं
होंठ भी कुछ काम नहीं बरखुरदार 
  कुछ और क्यों कहते नहीं

Aada gam chhupane ki aisi
Ki aansu tak nikalte nahin 
Honth bhi kuch Kam nahin barkhurdar
Kuch aur kyon kahate nahin


***


Two Line Sad Shayari

दो लाइन की सैड शायरी


दो लाइन में लिखी गई छोटी शायरी भले ही देखने में छोटी होती है परंतु वह बहुत गहरा दर्द पहुंचाती है और यकीन न हो तो इसको पढ़कर देखिए और फिर महसूस कीजिए।



न जाने किन-किन निगाहों से दो-चार हो गए
चोट ऐसी लगी दिल पर कि जिम्मेदार हो गए।।


 Akelepan Zindagi Dard bhari shayari | रिश्तो की दर्द भरी शायरी



80+Best Dard bhari shayari | रिश्तो की दर्द भरी शायरी 2024| shayarimetro



Na jaane kin-kin nigahon se do-char Ho gaye
Chot aisi lagi Dil per ki jimmedaar ho gaye.

***


काश हम भी सबके जैसे होते
 न ही दर्द में जीते, न दुख के आंसू पीते।।

Kaash ham bhi sabke jaise hote
Na hi Dard mein jite, Na dukh ke aansu Peete.

***



हम जरूरत से ज्यादा ही होशियार बनते थे
खुद की खबर न थी, बने अखबार फिरते थे।।

Ham jarurat se jyada hi hoshiyar bante the
Khud ki khabar na thi,Bane akhbar firte the.

***


मेरे दिल से इस तरह से निकल जाएंगे आप, सोचा न था
आंसुओं पर हमारी मुस्कुराते रह जाएंगें आप, सोचा न था।।

Mere Dil se is tarah se Nikal jayenge aap, socha na tha
Aansuon per hamari muskurate rah jayenge aap, socha na tha.

***


दिल खोलकर हंस सकूं किसी के सामने, जमाने गुजर गए
हमारी एक मुस्कुराहट तक भी उन पर भारी है।।

Dil khol kar Hans sakun kisi ke samne, jamane Gujar Gaye
Hamari ek muskurahat Tak bhi un per Bhari hai.

***


मतलब का पेशा रखने वाले गर्म और सर्द पूछते हैं
चोट देने वाले ही अक्सर दिल का दर्द पूछते हैं।।

Matlab ka Pesha rakhne wale garm aur sard puchte Hain
Chot Dene Wale hi Aksar, Dil ka Dard puchte Hain.

***


दिल के दर्द को इस कदर डूबकर लिखा मैंने
पन्ना-पन्ना तक रोया ,क्या खूब लिखा मैंने।।

Dil ke Dard ko is kadar doob kar likha maine
Panna Panna Tak roya, kya khoob likha maine

***


क्या कहूं कि मुनासिब नहीं रहना संग तेरे
यही कह सकता हूं कि जा कोई और दुनिया तलाश कर।।

Kya kahun ki munasib nahin rahana sang tere
Yahi kah sakta hun ki ja koi aur duniya talash kar.

***


मुझे रोक लो जाने से, ये तेरे बस की बात नहीं
खुद को ही काबू में रख लो, इतनी भी औकात नहीं।।

Mujhe rok Lo jaane se, yah tere bus ki baat nahin
Khud Ko hi kabu mein rakh lo, itni bhi aukat nahin.

***


अपना दिल तक चीर डाला उन्हें सब कुछ बताने में
वे जरा सा भी नहीं मचले, हमसे सब राज छुपाने में।।

Apna Dil Tak chir dala, unhen sab kuch batane mein
Ve Jara sa bhi nahin machhale, humse Raj chhupane mein.

***


दो लाइन की दर्द भरी शायरी



लोग कहते हैं ना कि दिल का दर्द शब्दों में बयां नहीं किया जा सकता चाहे वह दो लाइन में लिखा गया हो या चार लाइन में।पर यकीन मानिए कि दो लाइन में लिखा गया दर्द कहीं ज्यादा ही दुख देता है क्योंकि कहीं न कहीं यह बहुत गहरा लिखा होता है।



बेवफाई का बीज उन्होंने कुछ इस तरह बोया
कि मेरे बटुए का मुकद्दर फूट- फूट रोया।। 


 Akelepan Zindagi Dard bhari shayari | रिश्तो की दर्द भरी शायरी


80+Best Dard bhari shayari | Two Line Sad Shayari |shayarimetro



Bewafai ka beej unhone kuch is tarah boya
Ki mere batuye ka mukaddar fut- fut roya.

***


बड़ी बेरुखी से दिल मेरा जला जाते हैं
इस पर भी इल्जाम हम पर ही लगा जाते हैं।।

Badi berukhi se Dil Mera jala Jaate Hain
Is per bhi ilzaam ham per hi Laga Jaate Hain.

***


न पढ़ पाए तेरा चेहरा हम तो अनपढ़ ही रहे
न हकीकत में बदल पाए न ही दर्पण से रहे।।

Na pad paye Tera chehra, ham to anpadh hi rahe
Na hakikat mein Badal paye, na hi darpan se rahe.

***


उम्र तक का हिसाब मांगे जा रही है
जिंदगी यूं सरपट, बेहिसाब भागे जा रही है।।

Umra tak ka hisaab mange ja rahi hai
Jindagi Yun sarpat, behisaab bhage ja rahi hai.

***



नाम वालों को अक्सर बदनाम होते देखा है
इसी चक्कर में कितनों को बेनाम होते देखा है।।

Naam walon Ko Aksar Badnaam hote dekha hai
Isi chakkar mein kitnon ko, benaam hote dekha hai.

***


सच के तीखेपन से वाकिफ नहीं तुम,और
झूठ अक्सर मीठे अल्फाज बोल जाता है।।

Sach ke teekhepan se wakif nahin tum, aur
Jhooth Aksar mithe Alfaaz bol jata hai.

***


हम सा मिलेगा तो पसंद नहीं आएगा
हमसे अच्छा, तो फिर तुम Lucky।।

Ham sa milega to pasand nahin aayega
Humse achcha to fir Tum Lucky

***

कहते हैं कि एक सफल आदमी के पीछे एक औरत का हाथ होता है
और एक असफल आदमी के पीछे ......?

Kahate Hain ki ek Safal aadami ke piche ek aurat ka haath hota hai
Aur ek asafal aadami ke piche.......?


***



किसी ने कहा- यहां सूरत नहीं, सीरत देखी जाती है
अरे मियां! सूरत न सीरत, पहले हैसियत देखी जाती है।।

Kisi ne kaha- Surat nahin, seerat dekhi jaati hai
Are Miyan! Surat na sirat pahle haisiyat dekhi jaati hai

***


आओ तुम्हें जिंदगी की दास्तां सुनाते हैं
यहां किसी का किसी से वास्ता नहीं, बताते हैं।।

Aao tumhe jindagi ki Dastan sunate Hain
Yahan kisi ka kisi se vasta nahin, batate hain.

***


जिंदगी हिस्सों में बंट गई है
पहले लंबी चौड़ी कहानी हुआ करती थी
अब छोटे-छोटे किस्सों में बंट गई है।।


Jindagi hisson mein bat gayi hai
Pahle lambi-chaudi kahani hua karti thi 
Ab chote-chote kisson mein bat gayi hai.


***

प्यार-मोहब्बत बस फसाने हो गए
तेरी यादों से निकले तो जमाने हो गए।।

Pyar Mohabbat bas fasane ho Gaye
Teri yaadon se nikale to jamane ho Gaye.

***

इस जिंदगी की शाम कुछ बहारों के नगमें हो जाए
पतझड़ की कहानियां तो बहुत सुन हीं रखी है मैंने

Is jindagi ki Sham kuch baharon ke nagme
 ho jaaye
Patjhad ki kahaniyan to bahut Sun hi rakhi hai maine.

***


परखना, जांचना, तौलना, नापना
मेरी अच्छाइयों को भला ऐसे ही क्यों मानना।।

Parakhna, jaanchna, tolna, naapna
Meri achhaiyon ko bhala aise hi kyon manana

***


आप तो बड़े चालू निकले, बोझ ऊपर रख दिए
 सिर से तिनका उतारे, छप्पर रख दिए।।

Aap to bade chalu nikale, bojh upar rakh diye
Sir se tinka utare, chhappar rakh diye.

***


मजबूरियों का फायदा हम नहीं उठाते
कलम उठाते हैं दर्द पाकर भी, हाथ नहीं उठाते।।

Majburiyon ka fayda ham nahin uthate
Kalam uthate Hain Dard pakar bhi, hath nahin uthate.

***
                                        .... 'अनु-प्रिया'

लो जी! मोहब्बत में दिल एक बार फिर टूटा है
सुना है कि गली में कोई नया शायर आया है।।

Lo ji! Mohabbat mein Dil ek bar fir tuta hai
Suna hai ki gali mein koi Naya Shayar aaya hai


***

Gam bhari shayari|गम भरी शायरी


जब गम या दुःख छुपाए न छुपे, तो कभी-कभी उसको व्यक्त करना भी अच्छा रहता है। इसे थोड़ा बहुत तो हमारा दुःख कम ही हो जाता है।


तुमने क्या सोचा था जिंदगी अपनी तहस-नहस करते
उलझकर तुमसे फालतू की बहस करते।।


 Akelepan Zindagi Dard bhari shayari | रिश्तो की दर्द भरी शायरी


Two Line Sad Shayari|दो लाइन की दर्द भरी शायरी |shayarimetro



Tumne kya socha tha jindagi apni tahas-nahas karte
Ulajhkar tumse faltu ki bahas karte

***


बाकियों को खुश रख, हम चले
नजरअंदाज कर, न कर हम चले।।

Bakiyon ko Khush rakh ham chale
Najarandaaz kar, Na kar ham chale.

***


झलक एक नहीं मिलती है अब उनकी यारा
फिर भी सांस लेता है दिल बेचारा ।।

Jhalak ek nahin milati ab unki Yaara
Fir bhi sans leta hai dil bechara.

***


इल्जाम नया लगाने से हरगिज़ मत चूकना
पर साबित न हो पाए अगर, तो खुद पर थूकना।।

Ilzaam naya lagane se hargij mat chukana
Per saabit na ho paye agar to khud per thukana.

***


तीर की तरह चुभती है बेवफाई उसकी
उसे तो बस मेरा बोलना चुभा था।

Teer ki tarah chubhti hai bewafai uski
Use to bas Mera bolna chubha tha.

***



खुशी कोसों हमसे दूर रहती है
दर्द खुद-ब-खुद हमसे दोस्ती कर लेता है।।

Khushi konso humse dur rahti hai
Dard khud-b-khud humse Dosti kar leta hai.

                                   .....  'अनु-प्रिया'


अब तो माँ-बाप का रिश्ता भी एक बोझ लगने लगा है बच्चे उन्हें छोड़कर दूसरे शहरों में या विदेशों में रहने लगे हैं। रिश्तों में सहनशक्ति लगभग खत्म हो गई हैं । हर कोई सिर्फ खुद में ही खुश रहना पसंद करते हैं। प्रगति के दौर की यह एक बड़ी चुनौती है जिसे सुलझाने की कोशिश हम सभी को करनी है।







Final words on Dard Bhari Shayari

दोस्तों! अगर आपको हमारे द्वारा लिखी गई 80+Best Dard bhari shayari | रिश्तो की दर्द भरी शायरी 2024 पसंद आती है तो इसे आप अपने मित्रों, रिश्तेदारों और सगे-संबंधियों के साथ Facebook,Instagram,WhatsApp,Pinterest, Twitter जैसे सोशल मीडिया के अनेक प्लेटफार्म पर शेयर कर सकते हैं और अपने कमेंट हमें कमेंट बॉक्स में लिख सकते हैं ताकि हमें आपसे कुछ प्रेरणा मिल सके। आपके सुविचार हमें और अच्छा  लिखने की प्रेरणा देते रहेंगे।

***


Read more: Two Line Shayari

             



कोई टिप्पणी नहीं

Blogger द्वारा संचालित.